शाम को PM पद की शपथ लेते मोदी, क्या कहते ज्योतिष

ज्योतिषाचार्य अरुणेश कुमार शर्मा ने बताया कि उपलब्ध सूचनाओं के अनुसार नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को वृश्चिक लग्न और राशि में हुआ. वृश्चिक लग्न और राशि एक होने की वजह से वो सदैव स्पष्ट और लक्ष्योन्मुख बने रहे हैं. कुंडली में चंद्र-मंगल की अत्यंत योगकारक युति के साथ उच्च का बुध लाभ स्थान में है. कर्म भाव में विराजे जनकारक शनिदेव का धर्म-संस्कृति संरक्षक बृहस्पति से समसप्तक योग है. इस विशेष अवस्था ने उन्हें अपार लोकप्रिय, लाभ में रहने वाला, जनहितैषी और आस्था अध्यात्म में आगे रहने वाला बनाया है.

रामायण के अनुसार ऐसे हुआ था माता सीता का जन्म, जुड़ी हैं दो पौराणिक कथाएं
शनि, राहु और गुरु की तिकड़ी एग्जिट पोल के आंकड़ों को बिगाड़ सकती

Check Also

सूर्यास्त के बाद क्यों नहीं करते कंघी

घर में प्रायः बड़े बुजुर्गों द्वारा लड़कियों को सूर्यास्त के बाद कंघी नहीं करने की …