कलयुग में हनुमान जी हें सदा सहाय

हनुमान जी अत्याधिक बलशाली वीरता के प्रतीक माने जाते हे। इस कलयुग मे पूर्ण श्रद्धा के साथ हनुमान जी की भक्ति करने से जल्द ही फल की प्राप्ति हो जाती है। कहा गया हे की इस कलयुग में हनुमान जी सदा सहाय होगें इन्हे राम भक्त के नाम से भी जाना जाता हे यदि हम राम नाम का स्मर्ण करते हे तो ये जल्द ही प्रसन्न हो जाते है मंगलवार और शनिवार के दिन इनकी भक्ति करने का विशेष महत्व बताया गया है।

यदि व्यक्ति हनुमान चालीसा का नित्य नियम से पाठ करे तो उसके जीवन से सारे कष्ट क्लेश मिट जाते है हनुमान जी की भक्ति के कुछ विशेष मंत्र जो आपके जीवन मे सुख स्ंब्रधी लाते है।

यदि आप डर या भूत-प्रेत की समस्या से परेशान हे तब-

ॐ दक्षिणमुखाय पच्चमुख हनुमते करालबदनाय नारसिंहाय

ॐ हां हीं हूं हौं हः सकलभीतप्रेतदमनाय स्वाहाः।

प्रनवउं पवनकुमार खल बन पावक ग्यानधन।

जासु हृदय आगार बसिंह राम सर चाप घर।।

का जाप करें।

किसी भी व्यक्ति से चल रही शत्रुता को दूर करने हेतु-

ॐ पूर्वकपिमुखाय पच्चमुख हनुमते टं टं टं टं टं सकल शत्रु सहंरणाय स्वाहा।

का जाप करने से मित्रता व शांति होगी।

लड़ाई झगड़े से मुक्ति पाने के लिए-

पवन तनय बल पवन समाना।

बुधि बिबेक बिग्यान निधाना।।

का जप करें।

धन वैभव की प्राप्ति के लिये – 

मर्कटेश महोत्साह सर्वशोक विनाशन ।

शत्रून संहर मां रक्षा श्रियं दापय मे प्रभो।।

का जाप करें

यदि आप ये मंत्र का जाप नहीं कर पा रहे हे तो कोई बात नहीं केवल-

ॐ हनुमते नमः का जाप करने से सारे कष्ट दूर होगें साथ ही साथ आपका हर कार्य सिद्ध होगा। ॐ हनुमते नमः का जप आवश्य करें।

इस कलयुग में हनुमान जी ही एक मात्र ऐसे देव हे जो भक्त की पुकार जल्द सुनकर उसकी रक्षा करते हे कष्टों से मुक्ति दिलाते है मंगलवार भगवान हनुमान का दिन माना गया हे इस दिन व्रत रखने से आपकी हर एक मनोकामना पूर्ण होगी।

जीवन मंगलमय कर देते है हनुमान जी
पापों से मुक्ति दिलाते हे भोलेनाथ

Check Also

नवरात्र की पांचवीं देवी स्कंद माता इस प्रसाद से होंगी प्रसन्न..जाने

शुभ रंग: श्वेत (सफ़ेद) माता का स्वरूप स्कंदमाता की दाहिनी भुजा में कमल पुष्प, बाई …