इस वजह सिंदूर से किया जाता हैं हनुमान जी का श्रृंगार

आप सभी जानते ही होंगे कि बजरंगबली को प्रसन्न करना बहुत ही सरल होता हैं, वही प्रभु श्री राम के परम भक्त हनुमान जी को कलयुग में सबसे जल्दी प्रसन्न होने वाले देवता के रूप में माने जाते हैं. ऐसी भी मान्यता हैं कि इनकी पूजा से घर परिवार में सुख शांति और समृद्धि बनी रहती हैं. कहा जाता है हनुमान जी की पूजा अर्चना में सिंदूर का बहुत ही अधिक महत्व माना जाता हैं भगवान का पूरा श्रृंगार सिंदूर से ही किया जाता हैं, वही ज्योतिष ज्ञानियों की माने तो हनुमानजी को सिंदूर लगाने के पीछे एक कथा प्रचलित हैं जिसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं तो आइए बताते हैं आपको.

जानिए कथा- कथा के मुताबिक एक बार हनुमान जी ने माता सीता को मांग में सिंदूर लगाते हुए देखा तब उन्होंने देवी सीता मां से पूछा कि वे मांग में सिंदूर क्यों लगाती हैं सीता जी ने हनुमान को उत्तर देते हैं कहा वे अपने स्वामी, पति श्रीराम की लंबी आयु और अच्छे स्वास्थ्य के लिए मांग में सिंदूर लगाती हैंवही शास्त्रों के मुताबिक सुहागिन मांग में सिंदूर लगाती हैं तो उनके पति की आयु में वृद्धि हो और उनका स्वास्थ्य भी ठीक रहता हैं.

वही सीता माता की बातें सुनकर हनुमान जी ने सोचा कि थोड़ा सा सिंदूर लगाने का इतना लाभ मिलता हैं तो वे पूरे शरीर पर सिंदूर लगाएंगे. इससे मेरे आराध्य प्रभु श्रीराम हमेशा के लिए अमर हो जाएंगे. यही सोचकर उन्होंने पूरे शरीर पर सिंदूर लगाना प्रारंभ कर दिया और तभी से श्री राम के परम भक्त हनुमान को सिंदूर चढ़ाने की परंपरा शुरू हो गई.

आपने कभी नहीं पढ़े होंगे श्री हनुमान के यह 3 रहस्य
शिवपुराण के इस संवाद के कारण बुढ़ापे में माता-पिता से दूर हो जाती हैं संताने

Check Also

जानें, सबसे अच्छी पत्नी साबित होती हैं सिर्फ ये राशियों की लड़कियां…

जीवनसाथी चुनने से पहले हर कोई कई चीजों को देखता है शादी की शुरुआत में …