मंगल करने वाला है मकर राशि में प्रवेश, जानें और कौन सी राशियाँ होंगी प्रभावित

देवताओं के सेनापति मंगल 22 मार्च की रात्रि 8.33 देवगुरु वृहस्पति की राशि धनु को छोड़ अपनी परम उच्चराशि मकर में प्रवेश करेंगे और 5 मई तक रहेंगे। इस दौरान जन्म लेने वालों बच्चों को पंच महापुरुष के अंतर्गत मंगल से बनने वाला रुचक और शनि से बनने वाला शश महापुरुष योग प्राप्त होगा।

मंगल का यह परिवर्तन मेष, वृष, मिथुन, कर्क, कन्या, तुला, धनु, मकर और कुंभ राशि वालों को तनाव दे सकता है। वहीं सिंह, वृश्चिक और मीन राशि वालों को यह परिवर्तन लाभ प्रदान करेगा। अग्नि तत्त्व होने से मंगल सभी प्राणियों को जीवनशक्ति प्रदान करते हैं। मंगल के गोचर में खराब फल देने पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग के दर्शन जरूर करने चाहिए।

आइये जानते हैं विभिन्न राशियों पर पढ़ने वाले प्रभाव:

मेष: कार्यों में असफलता। काम में हानि। मेहनत बेकार जाएगी। अधिकारी नाराज होंगे।
वृष: संपत्ति को लेकर विवाद। शरीर में कमजोरी। पराजय का डर रहेगा। धन का नाश हो सकता है।
मिथुन: दुर्घटना की आशंका। बुखार तंग करेगा। व्यर्थ के कार्यों में धन का नाश। उग्र वाणी से तनाव, कार्यालय और घर में।
कर्क: स्त्रियों, साझेदारों से कलह-क्लेश। आंखों का इलाज कराना होगा। उग्र वाणी से दिक्कतें होंगी। पेट में तकलीफ।
सिंह: शत्रुओं का नाश होगा। वाद-विवाद में जीत। सभी प्रकार के प्रयासों में सफलता। रिश्तेदारों से अच्छे संबंध। धन मिलेगा।
कन्या: संतान की परेशानियों से तनाव। नौकरी टूटने का भय। मित्रों-बंधुओं से उग्र व्यवहार के कारण परेशानी।
तुला : अनावश्यक भय रहेगा। वाहन सुख में कमी। नौकरी छूटने का भय। पेट की बीमारी आदि।
वृश्चिक: आपको लगातार सफलता मिलती रहेगी। लोग तारीफ करेंगे। रुका हुआ धन मिलेगा। मन में संतोष रहेगा।
धनु: कठोर वाणी से विवाद। धन हानि की आशंका। मानसिक भ्रम। स्वभाव में अनावश्यक गर्मी।
मकर: मित्रों, परिवारजनों से दूरी। रक्त या अग्नि संबंधी बीमारी की आशंका। वाहन चोट से बचें। बेवजह जिद से काम खराब।
कुंभ: कार्ययोजना में बाधा आने की आशंका। मेहनत ज्यादा, फल कम। सरकार से वाद-विवाद। स्वभाव में अनावश्यक गर्मी से घर और परिवार में तनाव।
मीन: अचानक धन प्राप्त होगा। संतान की उपलब्धियों से मन प्रसन्न। उच्च शिक्षा में लाभ। संपत्ति आदि खरीद सकते हैं। पुरस्कार मिल सकता है।

शरीर पर भस्म को लगाने से मिलती है नकारात्मक ऊर्जा से मुक्ति, जानें भस्म का उपयोग
आपकी सोने की स्थितियों आपके व्यक्तित्व के बारे में चलता है पता

Check Also

इन चीजों के साथ इस विधि से शिव-पार्वती की करे पूजा, मनवांछित पायेंगे वरदान, दूर होंगें कष्ट

भगवान शिवजी को भोलेनाथ भी कहते हैं. क्योंकि हिंदू धर्म ग्रन्थों के मुताबिक, भगवान शिव …