इस देश के नोट पर विराजित हैं श्री गणेश, 250 मंदिरों का हुआ निर्माण

हिंदू धर्म में प्रथम पूजनीय देवता श्री गणेश को पूरी दुनिया में पूजा जाता हैं। श्री गणेश केवल भारत तक ही सीमित नहीं है, उनकी ख्याति पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हैं। हर देश में बप्पा को मानने और पूजने वाले लोगों का निवास हैं। आइए आज आपको बप्पा की विश्व में फ़ैली प्रसिद्धि से रूबरू कराते हैं।

– जापान में गणेश जी को बहुत माना जाता हैं और इस बात का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि जापान में बप्पा के 250 मंदिर बने हुए हैं। जापान में गणेश जी को  ‘कंजीटेन’ नाम से पुकारा जाता हैं।

– ऑक्सफोर्ड में छपे एक पेपर में यह लिखा हैं कि प्राचीन समय में गणपति जी सेंट्रल एशिया समेत दुनिया भर में पूजे जाते थे।

– अब तक जिन देशों में गणेश जी की मूर्तियां मिली हैं, उनमें नेपाल, थायलैंड, लाओस, कंबोडिया, वियतनाम, चाइना, मंगोलिया, जापान, इंडोनेशिया, ब्रुनेई, बुल्गारिया, अफगानिस्तान, ईरान, म्यान्मार, श्रीलंका, मेक्सिको और अन्य लेटिन अमेरिकी देश शामिल हैं।

– दुनिया के लगभग सभी ख़ास संग्रहालय और आर्ट गैलरियों में गणेश जी के चित्र और उनकी मूर्तियां देखने को मिल जाएगी। इनमें यूके, जर्मनी, फ्रांस और स्वीट्जरलैंड प्रमुख रूप से शामिल हैं।

– विदेशों के कई सफल बिजनेसमैन अपने घरों या दफ्तरों में श्री गणेश की प्रतिमांए और चित्र रखते हैं। इन देशों में यूरोप के कनाडा और यूएसए प्रमुख रूप से शामिल हैं।

– आयरिश लोगों की भी श्री गणेश में आस्था हैं।

– यूएसए की प्रसिद्ध सिलीकॉन वेली में भगवान श्री गणेश को सायबरस्पेस टेक्नोलॉजी का देव कहते हैं।

– इंडोनेशिया जो कि एक मुस्लिम देश है, उसकी मुद्रा पर गणेश जी का चित्र बना हुआ है।

भारत में गणेशोत्सव

भारत में कोने-कोने में गणेश उत्सव की धूम देखने को मिलती है। 10 दिवसीय इस त्यौहार की शुरुआत भारत में गणेश चतुर्थी के साथ होती है।  इस दिन गणेश जी की मूर्ति को स्थापित किया जाता है। वहीं 10 दिन बाद यानी कि गणेश चतुर्दशी के दिन बप्पा को विसर्जित करते हुए विदाई दी जाती है।

शिव पूजा में भूल से भी इन फूलों का करना चाहिए इस्तेमाल
आइये जाने किस दिन होती है यमराज की पूजा

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …