देवउठनी एकादशी के दिन करें यह उपाय, विवाह में आ रहें विघ्न होंगे दूर

हर साल आने वाला ग्यारस का पर्व यानि देवउठनी एकादशी इस साल 25 नवंबर को मनाई जाने वाली है। वहीं ज्योतिषों के मुताबिक इस साल यह पर्व दो दिन मनाया जाने वाला है यानी यह 25 नवंबर को प्रारंभ होगी और 26 तारीख को समाप्त होगी। कहा जाता है तुलसी विवाह के दिन कुछ विशेष उपाय किये जाए तो शादीशुदा लोगों का वैवाहिक जीवन सुखद होता है और अविवाहित जातकों को मनचाहा जीवनसाथी मिलता है। अब आज हम आपको वही उपाय बताने जा रहे हैं। आइए बताते हैं।

* कहते हैं तुलसी विवाह के दिन मनचाहा वर पाना हो तो सात साबुत हल्दी की गांठ, थोड़ा सा केसर थोड़ा सा गुड़ व चने की दाल किसी पीले कपड़े में बांधकर विष्णु जी के मंदिर में चढ़ा देना चाहिए।

* कहा जाता है तुलसी विवाह के दिन मनचाहा वर पाना हो तो माता तुलसी को लाल को रंग की चुनरी चढ़ानी चाहिए। इसी के साथ ध्यान रहे कि अगले दिन उस चुनरी को अपने पास संभाल कर रख लें।

* कहते हैं तुलसी विवाह के दिन शाम के समय तुलसी के पौधे के नीचे गाय के घी का या फिर सरसों के तेल का दीपक जलाने से वैवाहिक जीवन सुखद रहता है।

* कहा जाता है तुलसी विवाह के दिन ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम: मंत्र का जाप 108 बार करना चाहिए। इस जाप को करने वैवाहिक जीवन में सुख-शांति आती है और घर के सभी झगड़े खत्म होते हैं।

* कहा जाता है अगर विवाह होने में परेशानियां आ रही हैं तो ऐसे लोगों को तुलसी विवाह के दिन व्रत रखकर भगवान शालिग्राम और तुलसी माता के विवाह का विधिवत आयोजन करवाना चाहिए। इससे उन्हें लाभ होता है।

* कहा जाता है तुलसी विवाह के दिन माता तुलसी को चढ़ाया गया श्रृंगार किसी सुहागिन स्त्री को दान देने से दांपत्य जीवन में मधुरता और प्रेम आता है।

देवउठनी एकदशी पर इस आरती से माँ तुलसी को करे प्रसन्न
माँ तुलसी की इस स्तुति का करे पाठ, धनसंपदा और ऐश्वर्य का मिलेगा आशीर्वाद

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …