खरमास में जरूर करें इन खास मन्त्रों का जाप, सभी मनोकामनाए होंगी पूर्ण

आप सभी जानते ही होंगे बीते मंगलवार, 15 दिसंबर 2020 को सूर्य धनु राशि में आ चुका है। ऐसे में जब तक सूर्य मकर राशि में संक्रमित नहीं होते तब तक किसी भी प्रकार के शुभ कार्य नहीं हो सकते हैं। वैसे भारतीय पंचांग को माने तो जिस समय सूर्य धनु राशि में संक्रांति करते हैं तो यह समय शुभ नहीं माना जाता है।

आप सभी को बता दें कि आने वाले 14 जनवरी 2021, गुरुवार पौष शुक्ल प्रतिपदा तिथि तक खरमास जारी रहने वाला है। ऐसे में हिन्दू धर्म के अनुसार खरमास के दिनों में सुबह सूर्योदय से पहले उठकर अपने नित्य कर्मों से निवृत्त होकर कुछ मन्त्रों का जाप करने से सारे पाप मिट जाते हैं। अब आज हम आपको उन्ही मन्त्रों को बताने जा रहे हैं। जी दरअसल खरमास में भगवान श्रीविष्णु के नाम का जाप करें तो बड़े लाभ होते हैं और मन की हर इच्छा पूरी हो जाती है।

खरमास के खास एवं सरलतम मंत्र :-

1. भगवान विष्णु का स्मरण कर ‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’ इस द्वादश मंत्र का जाप करें।

2. कौण्डिन्येन पुरा प्रोक्तमिमं मंत्र पुन: पुन:।
जपन्मासं नयेद् भक्त्या पुरुषोत्तममाप्नुयात्।।

ध्यायेन्नवघनश्यामं द्विभुजं मुरलीधरम्।
लसत्पीतपटं रम्यं सराधं पुरुषोत्तम्।।
अर्थ- इस मंत्र का मतलब है कि मंत्र जपते समय नवीन मेघश्याम दोभुजधारी बांसुरी बजाते हुए पीले वस्त्र पहने हुए श्रीराधिकाजी के सहित श्रीपुरुषोत्तम भगवान का ध्यान करना चाहिए।

3. गोवर्धनधरं वन्दे गोपालं गोपरूपिणम्।
गोकुलोत्सवमीशानं गोविन्दं गोपिकाप्रियम्।।

4. श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारे। हे नाथ नारायण वासुदेवाय।।

5. ॐ नमो नारायण। श्री मन नारायण नारायण हरि हरि।

जानिए प्रत्येक राशि के सबसे अचयनित लक्षण
इन राशि वालोँ के लिए शुभ रहेगा नया साल, शनि की कृपा से मिलेगी उन्नति

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …