खरमास के दौरान करें ये काम, पैसों की नहीं होगीं दिक्कत, मिलेगी सफलता

खरमास का महीना 15 दिसंबर 2020 से शुरू हो गया है और यह 14 जनवरी 2021 तक रहेगा. हिन्दू धर्म में ऐसी मान्यता है कि जिस तरह श्राद्ध और चातुर्मास के दौरान कोई भी मांगलिक कार्य नहीं किया जाता है उसी प्रकार खरमास में भी कोई मांगलिक कार्य नहीं करते हैं. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, सूर्य हर माह अपना राशि परिवर्तन करते हैं. जब वह धनु में आते हैं तब खरमास लगता है और जब सूर्य धनु से निकलकर मकर में जाते हैं तब खरमास का अंत होता है. खरमास में मांगलिक कार्य वर्जित होने के बावजूद इस मास का आध्यात्मिक रूप से बहुत महत्त्व होता है. ऐसे में कुछ विशेष उपायों को करके खरमास का महा लाभ उठाया जा सकता है. जानिए खरमास में किए जाने वाले कुछ खास उपाय-

  1.  मान्यता है कि खरमास में सूर्योदय से पहले उठकर स्नान आदि करके सूर्य देव की पूजा करने और अर्घ्य देने से सुख-समृद्धि एवं अनेकों शुभ फल की प्राप्ति होती है.
  2. हिंदू धर्म में मां तुलसी की पूजा का विशेष महत्व है. मान्यता है कि खरमास में तुलसी के पौधे पर घी का दीपक जलाने से जीवन की समस्याएं कम होने लगती हैं.
  3. खरमास को दान और पुण्य का महीना माना जाता है. ऐसी मान्यता है कि इस महीने में दान का कई गुना फल मिलता है. इस माह में गरीबों और जरूरतमंदों की मदद करनी चाहिए.
  4. खरमास के महीने में भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए और तुलसीदल डालकर भोग लगाना चहिये. इससे भगवान विष्णु की भुत बड़ी कृपा होती है. साथ ही खरमास के दौरान पड़ने वाली एकादशी का व्रत जरूर करना चाहिए. मान्यता है कि ऐसा करने से श्रीहरि की विशेष कृपा प्राप्त होती है तथा समस्त पापों से मुक्ति मिलती है.
  5. खरमास में मां लक्ष्मी के साथ भगवान विष्णु की भी पूजा करनी चाहिए. इससे मां लक्ष्मी के कृपा से अकूत धन की प्राप्ति होती है. सभी प्रकार कष्टों से मुक्ति मिलती है.
  6. खरमास के महीने में तीर्थयात्रा करना सर्वोत्तम होता है. इसके अलावा भगवत गीता, विष्णु और शिव पूजन करना भी अत्यंत शुभ फलदायी होता है.
  7. खरमास के महीने में लक्ष्मी स्तोत्र या कनकधारा स्त्रोत का पाठ करना चाहिए. यह पाठ करने से मां लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है और जातक के शत्रुओं का विनाश होता है तथा हर क्षेत्र में कामयाबी मिलती है. सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है.
  8. हिन्दू धर्म में पीपल के पेड़ का विशेष महत्व है. ऐसी मान्यता है कि पीपल के पेड़ में देवताओं का वास होता है. ऐसे में हर दिन स्नान आदि करके पीपल के पेड़ की पूजा करके दीपक जलाना चाहिए. ऐसा करने से सुख-समृद्धि और वैभव की प्राप्ति होती है.
इन राशि के लोगों हमेशा शांति और समझदारी से करते है कार्य
जानिए कब मनाई जाएगी गीता जयंती, मानवता के लिए बेहद जरुरी है ये पवित्र ग्रंथ

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …