घर की इन इन वस्तुओं को तुरंत करे बाहर, बढ़ सकती है धन की समस्या और पारिवारिक कलह

लोग अपने घर की सजावट के लिए तरह-तरह की तरकीबें अपनाते हैं. कुछ लोग अपने घर और कमरों की सजावट के लिए कई तरह की तस्वीरें भी लगाते हैं. लेकिन घर या कमरों में तस्वीरें लगाते समय वास्तु का विशेष ध्यान रखना चाहिए. क्योंकि घर या कमरे में लगी कुछ तस्वीरें तो स्वभाव व व्यवहार पर सकारात्मक प्रभाव डालती हैं और कुछ नकारात्मक. इसलिए घर में ऐसी यदि 6 चीजें हैं तो इनको घर से तुरंत बाहर कर देना चाहिए.

इन 6 चीजों को घर से तुरंत करें दूर:

  1. घर में अगर कहीं पर ऐसी तस्वीर लगी हो जिसमें पानी बहता हुआ या पानी का फव्वारा दिखाई दे रहा हो तो इसे घर से तुरंत बाहर कर देना चाहिए. ऐसा माना जाता है कि जिस तरह से पानी बह जाता है ठीक उसी तरह से घर का रूपया भी व्यर्थ कार्यों में खर्च हो जाता है.
  2. वास्तु के हिसाब से घर में किसी डूबती हुई नाव या भवंर में फंसी हुई नाव की भी तस्वीरें नहीं लगाना चाहिए. घर में लगी हुई ऐसी तस्वीरें घर के सदस्यों पर नकारात्मक प्रभाव डालती हैं. ऐसा माना जाता है कि घर में लगी ऐसी तस्वीरें भाग्य सम्बन्धी बाधा पैदा करती हैं
  3. महाभारत के युद्ध से सम्बंधित तस्वीर भी अगर घर में लगी हो तो इसे भी बिना किसी देरी के घर से बाहर कर देना चाहिए. ऐसा माना जाता है कि इस तरह की तस्वीरों को लगाने से घर के सदस्यों का व्यवहार आक्रामक हो जाता है.
  4. घर के पूजा घर में कभी भी पुराने फूल नहीं रहने चाहिए. पुराने फूल से लक्ष्मी माता नाराज होती हैं और धन सम्बन्धी नुकसान होता है. इसलिए पूजा घर में रोजाना ताजे फूल चढ़ाने चाहिए और पुराने फूल को हटाते रहना चाहिए.
  5. घर के दरवाजे टूटे हुए हों या उनसे आवाज आती हो तो उसे भी तुरंत ठीक करा लेना चाहिए. ऐसी मान्यता है कि ऐसा होने पर घर में लड़ाई-झगड़े होने की अधिक संभावना रहती है.
  6. घर में टूटे हुए खिलौने और टूटी हुई क्राकरी कभी भी नहीं रखना चाहिए. जहां टूटे हुए खिलौने बच्चों की सेहत के लिए नुकसानदायक होते हैं वहीँ टूटे हुए क्राकरी से घर में अपव्यय भी बढ़ता है.
चाणक्य नीति: जीवन में आर्थिक संकट आने पर इन बातों को करना चाहिए स्मरण
आज है साल की पहली मासिक शिवरात्रि, जानिए इसका महत्वपूर्ण

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …