जानिए होलाष्टक कब से होगा शुरू, होलिका दहन का शुभ मुहूर्त

होली का पर्व पंचांग के अनुसार 28 मार्च को फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाएगा. धार्मिक दृष्टि मार्च का महीना बहुत ही विशेष है. इसी माह महाशिवरात्रि का पर्व भी पड़ रहा है. इसके बाद होली का पर्व मनाया जाएगा. महाशिरात्रि का पर्व 11 मार्च को है.
होलिका दहन (Holika Dahan 2021) कब है? होलिका दहन के साथ ही होली का पर्व आरंभ हो जाता है. होली का पर्व देश भर में दो दिनों तक मनाया जाता है कुछ स्थानों पर इससे अधिक दिनों तक भी इस पर्व को मनाने की परंपरा है. होलिका दहन फाल्गुन पूर्णिमा के दिन किया जाता है. इसके अगले दिन होली खेली जाती है. इस वर्ष होलिका दहन 28 मार्च को किया जाएगा. इससे पहले होलाष्टक आरंभ होते हैं. होलाष्टक के समापन का शुभ मांगलिक कार्य नहीं करते हैं. होलाष्टक (Holashtak 2021 ) कब आरंभ होगा? पंचांग के अनुसार होलिका अष्टक यानि होलाष्टक 21 मार्च से आरंभ होगा और 28 मार्च को इसका समापन होगा. होलाष्टक में आठ दिनों तक कोई भी शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं. होली यानि रंगों के पर्व की शुरूआत होलाष्टक के समापन से ही होती है.होलाष्टक में विवाह, सगाई, गर्भाधान संस्कार, शिक्षा आरंभ संस्कार, कर्ण छेदना, नामकरण, गृह निर्माण, गृह प्रवेश आदि कार्य नहीं किए जाते हैं. होलिका दहन का मुहूर्त होलिका दहन का इस वर्ष मुहूर्त 28 मार्च को 2 घंटे 20 मिनट तब बना हुआ है. पंचांग के अनुसार होलिका दहन का मुहूर्त 28 मार्च को शाम 18 बजकर 37 मिनट से 20 बजकर 56 मिनट तक बना हुआ है.
इन तीन चीजों से दूर रहने मां लक्ष्मी की मिलती है कृपा
इस महाशिवरात्रि पर बन रहा है विशेष योग, जानें पंचांग के अनुसार शुभ मुहूर्त

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …