राशि के अनुसार लगाएं सिर पर तिलक, तेज गति के साथ होगी उन्नति

अक्सर जब भी आप पूजा-पाठ के चलते माथे पर तिलक लगाते होंगे तो आपको भीतर से एक पॉजिटिव एनर्जी का अहसास होता होगा। दरअसल धार्मिक दृष्टि से माथे के मध्य की जगह बहुत अहम माना गया है। प्रथा है कि इस स्थान पर आज्ञाचक्र होता है, जिसे ऊर्जा का केंद्र माना जाता है। तिलक लगाने से ये चक्र उद्दीप्त होता है। जिसके कारण शख्स का मन शांत एवं एकाग्र होता है। इसके अतिरिक्त मस्तक के बीच की जगह को त्रिवेणी या संगम भी बोला जाता है क्योंकि यही जगह शरीर की तीन नाड़ियों के मिलन का भी केंद्र होता है। माथे पर तिलक लगाने से मनुष्य में तेज की बढ़ोतरी होती है तथा वो खुद को ऊर्जावान महसूस करता है। धार्मिक तौर पर हम सब रोली, हल्दी, चंदन, भस्म, कुमकुम आदि का तिलक लगाते हैं। किन्तु ज्योतिष विशेषज्ञों का मानना है कि यदि तिलक अपनी राशि के मुताबिक, लगाया जाए तो ये कहीं अधिक प्रभावी होता है। इसे लगाने से राशि का स्वामी ग्रह प्रबल होता है तथा मनुष्य को बहुत से फायदे मिलते हैंं। इससे मनुष्य के शरीर में बहुत तेजी से पॉजिटिव एनर्जी का संचार होता है तथा वो पूर्ण एकाग्रता के साथ किसी भी काम को करता है। इससे उसकी दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की के योग का निर्माण होता है। यहां जानिए राशि के अनुसार कौन सा तिलक लगाना चाहिए।

मेष: इस राशि वालों को हमेशा लाल कुमकुम अथवा रोली का तिलक लगाना चाहिए क्योंकि मेष का स्वामी मंगल होता है। मंगल का रंग लाल माना गया है।

वृष: ये शुक्र के स्वामित्व वाली राशि है। ऐसे व्यक्तियों को मस्तक पर सफेद चंदन लगाना चाहिए। यदि सफेद चंदन न हो तो दही से मस्तक पर तिलक लगा सकते हैं।

मिथुन: मिथुन राशि वालों के लिए अष्टगंध का तिलक लगाना बेहद शुभ माना गया है। अष्टगंध आठ गंधद्रव्यों का संग्रह होता है। ये दो प्रकार का होता है शैव तथा वैष्णव। गृहस्थ व्यक्तियों को शैव अष्टगंध का इस्तेमाल करना चाहिए।

कर्क: इस राशि का स्वामी चंद्रमा है। चंद्रमा का कलर सफेद होता है। ऐसे व्यक्तियों को सफेद कलर का चंदन मस्तक पर लगाना चाहिए।

सिंह: सिंह राशि वालों का स्वामी सूर्य है। ऐसे लोगों को लाल कलर के कुमकुम अथवा रोली का तिलक लगाना चाहिए।

कन्या: इस राशि का स्वामी भी बुध है। ऐसे व्यक्तियों को भी अष्टगंध का तिलक लगाने से बहुत फायदेमंद होता है।

तुला: शुक्र ग्रह तुला राशि का स्वामी होता है। इस राशि के लोग भी सफेद चंदन अथवा दही का तिलक लगाएं।

वृश्चिक: मंगल ग्रह के स्वामित्व वाली इस राशि के व्यक्तियों को लाल रंग का तिलक मस्तक पर लगाना चाहिए।

धनु: धनु राशि के स्वामी गुरू बृहस्पति हैं। ऐसे जातकों को पीला चंदन अथवा हल्दी को मस्तक पर लगाना चाहिए।

मकर: मकर राशि के स्वामी शनिदेव हैं। इन व्यक्तियों को काली भस्म अथवा काला काजल मस्तक पर लगाना चाहिए।

कुंभ: इस राशि के जातकों को भी काली भस्म अथवा काजल ही माथे पर लगाना चाहिए क्योंकि कुंभ राशि के स्वामी भी शनिदेव हैं।

मीन: ये राशि बृहस्पति के स्वामित्व वाली राशि है। ऐसे जातकों को पीला चंदन, केसर या हल्दी का तिलक लगाना चाहिए।

होली के दिन जरूर अपनाएं ये उपाय, दूर होगी सभी समस्या
जाने किस दिन है होलिका दहन और होली, जानें शुभ मुहूर्त और कथा

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …