सफलता की कुंजी: लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त करना है तो कभी नहीं करने चाहिए ये काम

चाणक्य की चाणक्य नीति कहती है कि लक्ष्मी जी का आशीर्वाद सभी कष्टों को दूर करता है. भौतिक जीवन को यदि सुगम बनाना है तो लक्ष्मी जी का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए प्रयास करने चाहिए. लक्ष्मी जी धन की देवी हैं. धन एक ऐसा साधन है जो जीवन की कठिनाइयों को दूर करता है.

विद्वानों का मनाना है कि धन के मामले में व्यक्ति को बहुत ही सजग रहना चाहिए. धन का प्रयोग सावधानी से न किया जाए तो वह नष्ट हो जाता है. चाणक्य ने भी माना है कि लक्ष्मी जी का स्वभाव चचंल है. इसलिए लक्ष्मी जी का आशीर्वाद मिलने पर व्यक्ति को अहंकार से दूर रहना चाहिए क्योंकि बुरा समय कभी बताकर नहीं आता है. ये किसी के भी जीवन में आ सकता है. इसलिए धन आने पर व्यक्ति को करुणा और विनम्रता का त्याग नहीं करना चाहिए.

लक्ष्मी जी को प्रसन्न करना है तो कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. हमारे विद्वानों ने बताया है कि लक्ष्मी जी को परिश्रम अधिक पसंद है यानि लक्ष्मी जी को यदि प्रसन्न करना है तो परिश्रम से कभी न घबराएं, इसके साथ ही कुछ अन्य बातों का भी ध्यान रखना चाहिए.

लालच
विद्वानों का मानना है कि लोभ सभी प्रकार के दुखों का कारण है. लोभ से व्यक्ति को मुक्त रहने का प्रयास करना चाहिए. जो व्यक्ति लोभ के बंधन में बंधा रहता है वो स्वार्थी हो जाता है. स्वार्थ के चलते व्यक्ति गलत कार्य भी कर जाता है. इसलिए इस स्थिति से बचने का प्रयास करना चाहिए. लोभ से रहित व्यक्ति को लक्ष्मी जी अपना आर्शीवाद अवश्य प्रदान करती हैं.

धन का गलत प्रयोग
धन का कभी गलत ढ़ग से प्रयोग नहीं करना चाहिए. विद्वानों का कहना है कि जो लोग धन का प्रयोग दूसरों का अहित करने के लिए करते हैं, उनसे लक्ष्मी जी नाराज हो जाती हैं. बाद में ऐसे में लोगों को कष्ट भोगने पड़ते है. इसलिए गलत कार्यों को करने से बचना चाहिए.

क्या है आज का पंचांग, जानिए शुभ-अशुभ मुहूर्त
पूजा में वस्त्र और रंगों का रखना चाहिए विशेष ध्यान, शिव पूजा में इस रंग के कपड़े पहनना है अशुभ

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …