इस दिन से गुरु कुंभ में करेंगे गोचर, वायु तत्व की राशियों को मिलेगी बड़ी राहत

देव गुरु बृहस्पति वर्तमान में मकर राशि में भ्रमण कर रहे हैं. 6 अप्रैल को 12ः25 एएम पर कुंभ राशि में प्रवेश लेंगे. गुरु यहां 13 महीने रहेंगे. गुरु का यह राशि परिवर्तन वायु तत्व की राशियों के लिए राहत की खबर भरा रहने वाला है. इन राशियों के जातकों की विवाह बाधाएं दूर होंगी. कार्य व्यापार संबंधी महत्वपूर्ण मामलों में गति आएगी.
वायु तत्व की तीन राशियां- मिथुन तुला और कुंभ हैं. इनसे अभी गुरु क्रमशः आठवें, चौथे और बारहवें चल रहे हैं. इन तीन भावों को ज्योतिष में शुभ भाव नहीं माना जाता है. गुरु जैसा शुभ ग्रह जब राशि से चार आठ बारहवें में गति करता है तो परिणाम शुभकारक नहीं मिल पाते हैं. गुरु का आगामी राशि इन तीन राशियों के लिए सबसे सकारात्मक रहने वाला है. मिथुन राशि से गुरु भाग्य स्थान में भ्रमण करेंगे. इन जातकों को धर्म आस्था और विश्वास से पुण्यार्जन के अवसर बढ़ेंगे. लंबी दूरी की एवं धार्मिक यात्राओं के योग बनेंगे. स्वास्थ्य संबंधी अवरोध कम होंगे. प्रभावशीलता बढ़ेगी. तुला राशि से गुरु पांचवें स्थान पर भ्रमण करेंगे. विद्यार्थियों का पठन पाठन में मन लगेगा. परीक्षा प्रतियोगिता में अच्छा करेंगे. लाभ का प्रतिशत संवार पर रहेगा. स्वास्थ्य सुधरेगा. कुंभ राशि में गुरु स्वयं विराजमान रहेंगे. यह स्थिति इन राशि वालों को जिम्मेदार बनाएगी. निजी जीवन में शुभता संचार बढ़ेगा. भाग्य की प्रबलता से रुके कार्य बनेंगे. परीक्षा में अच्छा करेंगे.
बच्चे के नामकरण से पहले जरूर जान लें ये खास बातें, होंगे बहुत फायदे
चैत्र नवरात्रि पर घटस्थापना के समय जानिए नव ग्रहों की स्थिति, इस दिन बन रहे है ये विशेष योग

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …