मेष राशि के जातक धन प्राप्ति के लिए जरूर करें ये आसान उपाय

वर्तमान समय में देवगुरु बृहस्पति मेष राशि के दूसरे भाव यानी धन भाव में उपस्थित हैं। अतः मेष राशि के जातकों को वर्ष भर धन की कमी नहीं होगी। इस दौरान मेष राशि के जातकों को सभी प्रकार के सुखों की प्राप्ति होगी। मेष राशि के जातक धन प्राप्ति या धन में वृद्धि हेतु गुरुवार के दिन चने की दाल बेसन पीले वस्त्र केसर आदि चीजों का दान करें।

देवगुरु बृहस्पति के राशि परिवर्तन से राशि चक्र की सभी राशियों को भाव अनुसार लाभ मिलने वाला है। इनमें मेष राशि के जातकों को सर्वाधिक लाभ मिलेगा। देवगुरु मेष राशि के धन भाव में उपस्थित हैं। वर्तमान समय में देवगुरु बृहस्पति वृषभ राशि में विराजमान हैं। इससे पूर्व बृहस्पति देव मेष राशि में विराजमान थे। ज्योतिषियों की मानें तो गुरु ग्रह 14 मई, 2025 तक वृषभ राशि में विराजमान रहेंगे। इसके बाद वृषभ राशि से निकलकर मिथुन राशि में गोचर करेंगे। इससे पूर्व मेष राशि के जातकों पर साढ़े साती शुरू होगी। अगर आप भी मेष राशि के जातक हैं, तो धन प्राप्ति के लिए ये आसान उपाय अवश्य करें।

धन प्राप्ति के उपाय

  • वर्तमान समय में देवगुरु बृहस्पति मेष राशि के दूसरे भाव यानी धन भाव में उपस्थित हैं। अतः मेष राशि के जातकों को वर्ष भर धन की कमी नहीं होगी। इस दौरान मेष राशि के जातकों को सभी प्रकार के सुखों की प्राप्ति होगी। मेष राशि के जातक धन प्राप्ति या धन में वृद्धि हेतु गुरुवार के दिन चने की दाल, बेसन, पीले वस्त्र, केसर आदि चीजों का दान करें।
  • अगर आप मेष राशि के जातक हैं, तो रोजाना स्नान-ध्यान के बाद हनुमान चालीसा का पाठ अवश्य करें। इस समय सूर्य देव को जल में हल्दी या चंदन मिलाकर अर्घ्य दें। इस उपाय को करने से कुंडली में गुरु मजबूत होगा।
  • मेष राशि के जातक कुंडली में गुरु ग्रह मजबूत करने हेतु गुरुवार के दिन स्नान-ध्यान के बाद लक्ष्मी नारायण मंदिर जाकर उन्हें एकाक्षी नारियल अर्पित करें। साथ ही बेसन के लड्डू विष्णु जी को अर्पित करें।
  • इस राशि की महिलाएं गुरुवार के दिन स्नान-ध्यान के बाद हल्दी मिश्रित जल केले के पौधे में अर्घ्य स्वरूप में अर्पित करें। शुक्ल पक्ष से गुरुवार व्रत प्रारंभ कर सकती हैं। साथ ही पूजा के समय गुरु मंत्र का जप करें।
  • मेष राशि के जातक मंगलवार के दिन स्नान-ध्यान के बाद विधि-विधान से हनुमान जी की पूजा करें। इसके बाद मसूर दाल, लाल मिर्च, लाल रंग के कपड़े, शहद, गुड़ आदि चीजों का दान करें। इन उपायों को करने से धन में अवश्य ही वृद्धि होती है। 
मई महीने में कब है गंगा सप्तमी?
कालाष्टमी पर राशि अनुसार करें भगवान शिव का अभिषेक

Check Also

 ज्येष्ठ माह में कब है मासिक कृष्ण जन्माष्टमी

शास्त्रों के अनुसार भगवान श्रीकृष्ण का अवतरण भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि …