कालाष्टमी पर राशि अनुसार करें भगवान शिव का अभिषेक

भगवान शिव महज जलाभिषक से प्रसन्न हो जाते हैं। अत साधक पूजा के समय शिव जी का जलाभिषेक अवश्य करते हैं। भगवान शिव की पूजा करने से साधक को मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। साथ ही सभी बिगड़े काम बन जाते हैं। अगर आप भी मनचाहा वर पाना चाहते हैं तो आज राशि अनुसार भगवान शिव का अभिषेक करें।

देशभर में कालाष्टमी का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस उपलक्ष्य पर मंदिरों में प्रातः काल से भगवान शिव का अभिषेक किया जा रहा है। भक्त जल, गंगाजल, दूध, पंचामृत, घी, शहद आदि चीजों से भगवान शिव का अभिषेक कर रहे हैं। भगवान शिव महज जलाभिषक से प्रसन्न हो जाते हैं। अत: साधक पूजा के समय शिव जी का जलाभिषेक अवश्य करते हैं। भगवान शिव की पूजा करने से साधक को मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। साथ ही सभी बिगड़े काम बन जाते हैं। अगर आप भी मनचाहा वर पाना चाहते हैं, तो आज राशि अनुसार भगवान शिव का अभिषेक करें। ज्योतिषियों की मानें तो कालाष्टमी पर प्रदोष काल में भगवान शिव का अभिषेक करने से यथाशीघ्र इच्छित वर प्राप्त होता है। आप अपनी सुविधा अनुसार समय पर भगवान शिव का अभिषेक कर सकते हैं-

भगवान शिव का अभिषेक

  • मेष राशि के जातक शहद या चंदन मिश्रित गंगाजल से देवों के देव महादेव का अभिषेक करें।
  • वृषभ राशि के जातक कालाष्टमी पर कच्चे दूध से भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • मिथुन राशि के जातक गंगाजल में बेलपत्र डालकर भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • कर्क राशि के जातक कालाष्टमी पर शुद्ध घी से भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • सिंह राशि के जातक मनचाहा वर पाने हेतु गन्ने के रस से भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • कन्या राशि के जातक गंगाजल में पान का पत्ता या दूर्वा डालकर भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • तुला राशि के जातक शुक्र ग्रह मजबूत करने हेतु पंचामृत से भोलेनाथ का अभिषेक करें।
  • वृश्चिक राशि के जातक कालाष्टमी पर गंगाजल में शहद मिलाकर भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • धनु राशि के जातक कालाष्टमी तिथि पर गाय के कच्चे दूध से भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • मकर राशि के जातक कालाष्टमी पर गंगाजल में काले तिल मिलाकर भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • कुंभ राशि के जातक नारियल जल से चराचर के स्वामी भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • मीन राशि के जातक दूध में केसर मिलाकर यानी केसर मिश्रित दूध से महादेव का अभिषेक करें।
मेष राशि के जातक धन प्राप्ति के लिए जरूर करें ये आसान उपाय
कब है अक्षय तृतीया?

Check Also

 कब है वट सावित्री पूर्णिमा व्रत?

वट सावित्री पूर्णिमा व्रत बेहद महत्वपर्ण माना जाता है। यह तीन दिनों का उपवास होता …