Tag Archives: जीवन जीने की उत्तम शिक्षा देती है रामायण

जीवन जीने की उत्तम शिक्षा देती है रामायण

भरत जी तो नंदिग्राम में रहते हैं, शत्रुघ्न  लाल जी महाराज उनके आदेश से राज्य संचालन करते थे। धीरे-धीरे भगवान राम को वनवास हुए तेरह वर्ष बीत चुक थे। एक रात की बात है, माता कौशल्या जी को रात में अपने महल की छत पर किसी के चलने की आहट सुनाई दी। उनकी नींद खुल गई, दासियों को देखने के …

Read More »