इन 8 काम को करने से जल्द होती है इंसान की म्रत्यु, तुरंत छोड़े…

हर व्यक्ति को ये उत्सुकता तो सदैव ही रहती है कि उसकी मृत्यु कब होने वाली है। कहीं जल्द ही  मृत्यु तो नहीं होने वाली ? हिन्दू धर्म में कई ऐसे वर्णन मिलते हैं जिससे आपके निकट भविष्य में होने वाली जीवन को लेकर संभावनाओं को व्यक्त किया जा सकता है।

महाभारत के बाद यमराज और युधिस्ठिर के बीच हुए संवाद में यमराज ने कुछ कारण  बताये जिनसे किस व्यक्ति की म्रत्यु जल्द हो जाएंगी  आदि बातों का पता लगाया जा सकता है।

आईये जानिए गरुड़ पुराण के अनुसार  ये महत्वपूर्ण कारण-

1.सूर्य को निहारना : अगर कोई व्यक्ति प्रतिदिनसूर्यास्त , सूर्योदय और ग्रहण कले समय सूर्य देवता को देखता है तो ऐसा करने से उसकी आयु धीरे धीरे कम होने लगती है।

2 . नास्तिक होना : ईश्वर में आस्था नहीं रखने वाला मनुष्य , जिसे भगवान के अस्तित्व पर और सत्ता पर कोई विश्वास नहीं हैं ऐसा मनुष्य भी अपनी आयु क्षीण कर लेता है।

3 बड़ो का निरादर : अगर कोई व्यक्तिअपने बुजुर्गों का सम्मान नहीं करता है। उनके साथ बुरा बर्ताव करता है। ऐसा मनुष्य भी म्रत्यु को प्राप्त होता है।

4 बुरे कार्य करने वाला : लोगो के साथ अत्याचारकरने वाला मनुष्य भी धीरे धीरे अपनी आयु खो देता है।

5. गरुड़ पुराण के अनुसार कुछ विशेष तिथियों पर शारीरिक सम्बन्ध बनाना वर्जित है। ये तिथियां कृष्ण और शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी , प्रत्येक माह की अष्ठमी और शुक्ल पक्ष की पहली तिथी के साथ पूर्णमासी पर शारीरक सम्बन्धबनाना भी आयु काम करता है।

6. टूटे हुए या गंदे दर्पण में देखने पर भी मनुष्य की आयु काम हो जाती है।

7. अपंगऔर बेसहारा लोगों का मजाक उड़ने वाले और उनको परेशान करने वाले लोग भी अपनी आयु खो देते हैं ।

8. गलत दिशा में सोने से भी आयु कम होने लगती है। सोते समय सर की दिशा या तो दक्षिण या पूर्व दिशाकी और होने चाहिए।

हर मनोकामना को पूरी करता है चावल का ये 3 उपाय..
जिस स्थान पर प्रेम की जगह ईर्ष्या और क्रोध हो वहां मैं नहीं रह सकती: मां लक्ष्मी

Check Also

अमृत की वर्षा : शरद पूर्णिमा पर चांद की रोशनी से पूरी पृथ्वी जगमगा जाती है

इस वर्ष शरद पूर्णिमा 30 अक्तूबर को मनाई जाएगी। हिंदू पंचांग के अनुसार अश्विन मास …