घर में वास्तु के इन 14 कारणों से अक्सर धन की कमी बनी रहती है

vastu-5555af6a415b6_exlstभगवान शिव ने मनुष्य के कल्याण के लिए वास्तु विज्ञान को जन्म दिया है। इसी वस्तु विज्ञान में 14 ऐसी बातें बताई गई हैं जिनका ध्यान रखें तो आपको नौकरी एवं व्यवसाय में उन्नति के साथ धन का लाभ भी मिलता रहेगा। घर में रहने वाले लोगों का स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। तो आइये जानें वह 14 टिप्स जो आपको हर तरफ से लाभ दिला सकते हैं।

बाथरुम और टॉयलेट के दरवाजों को खुला रखने पर नुकसान होता रहता है।

घर में कांटे वाले, दूध निकलने वाले और विषैले पेड़ पौधे नहीं लगाएं इससे धन और स्वास्थ्य की हानि होती है।

अगर आप व्यवसायी हैं और कारोबार में मंदी की स्थिति बनी हुई है यानी कारोबार बहुत अच्छा नही चल रहा है तो दक्षिण की दीवार के मुंडेर पर ईंटों की चिनाई कराकर उसे ऊंचा कर दें। दक्षिण की दीवार ऊंची होने पर व्यवसाय में तेजी आएगी।

घर के पूर्व दिशा में अधिक ऊंची दीवार खड़ी नहीं करें। इस दिशा में ऊंची दीवार और सूर्य की रोशनी को बाधित करने वाले पेड़ होने पर धन और स्वास्थय पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

घर के उत्तर पूर्व दिशा यानी ईशान कोण को साफ और पवित्र रखें। आप चाहें तो इस दिशा में भगवान की भगवान विष्णु और लक्ष्मी की मूर्ति रख सकते हैं। इससे धन वृद्धि और उन्नति होती है।

सुख समृद्धि के लिए सुबह और शाम घी का एक दीपक जलाएं।

रसोई घर में अगर दवाइयां रखते हैं तो इस आदत को बदलें। वास्तुविज्ञान के अनुसार इससे लोगों के स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव बना रहता है। बीमार लोगों के स्वास्थ्य में भी जल्दी सुधार नहीं होता है।

घर के उत्तर दिशा में अक्वेरियम यानी मछलीघर या पानी का फव्वरा लगाएं। इससे आमदनी बढ़ती है और खर्च कम होता है।

जिस आलमारी या तिजोरी में पैसा रुपया या कीमती सामान रखते हों उससे सटाकर झाडू या गंदगी नहीं रखें। झाड़ू को राहु का प्रतीक माना जाता है जो धन की हानि करवाता है।

वास्तु विज्ञान के अनुसार दीवारों में दरारें आ गई हों तो उसे जल्दी से जल्दी ठीक करवा लें। घर की दीवारों में दरारें होने पर धन का नुकसान होता है, बचत में कमी आती है।

घर में खुशहाली और सकारात्मक उर्जा के लिए कम से कम हफ्ते में एक दिन पानी में नमक मिलाकर पोछा लगाएं।

घर की दीवारों एवं फर्श पर बच्चों को पेंसिल, चॉक या कोयले से लकीरें नहीं बनाने दें, माना जाता है कि इससे खर्च बढ़ता है और ऋण वृद्धि होती है।

पूजा घर कभी भी शयन कक्ष में नहीं होना चाहिए। ऐसा होने से घर में कलह, आर्थिक परेशानी और दूसरी कई तरह की उलझनें बनी रहती हैं।

अगर आप किसी से घर खरीद रहे हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि उस घर का इतिहास कैसा रहा है। अगर घर में रहने वाले लोग असफल हुए हैं या किस्मत ने उन्हें धोखा दिया है तो ऐसे व्यक्ति के घर को खरीदकर रहना नुकसानदायक हो सकता है।

 

हिन्दू धर्म के संस्थापक कौन? जानिए....
महाप्रलय के इस सच से इनकार नहीं किया जा सकता

Check Also

श्री राम की यह आरती देगी आपको कीर्ति

आरती आपके द्वारा की गई पूजा में आई छोटी से छोटी कमी को दूर कर …