नाग पंचमी 2020 : इस कारण नाग देवता को पिलाना चाहिए दूध

सावन माह की शुक्ल पंचमी एक आम तिथि नहीं होती है, इस दिन नाग देवता की पूजा की जाती है। हर साल सावन माह की शुक्ल पंचमी का दिन नाग देवता को समर्पित होता है। इस दिन को नाग पंचमी के त्यौहार के रूप में मनाते हैं। इस दिन कई लोग व्रत भी रखते हैं और नाग देवता का विशेष पूजन भी इस दौरान किया जाता है। सबसे ख़ास बात यह भी है कि नाग पंचमी के दिन नाग देवता को दूध भी पिलाया जाता है। कई लोग इसे गलत तो कई लोग इसे शुभ मानते हैं। अब सवाल यह उठता है कि नाग को दूध पिलाना किस दृष्टि से उचित है ? तो आइए जानते है कि नाग को आखिर नाग पंचमी पर दूध क्यों पिलाया जाता है ?

नागपंचमी पर सांप सरीखे जहरीले जीव को दूध पिलाने की परंपरा काफी पुरानी और काफी प्रचलित है। ऐसा कहा जाता है कि यदि शत्रु का स्वागत किसी स्वादिष्ट भोजन के साथ किया जाए तो इससे उसका क्रोध नियंत्रण में आ जाता है और सांप के साथ भी ऐसा ही है। अतः नाग पंचमी के दिन नाग देवता को दूध पिलाना काफी अच्छा माना गया है। लोग इस दिन मंदिरों में और घरों के मुख्य द्वार पर बर्तनों में सांप के लिए दूध रखते हैं।

नाग देवता के पूजन से घर-परिवार भी सुरक्षित रहता है। विषैले जीवों के लिए दूध विष का ही काम करता है। साथ ही आपको बता दें कि नाग के लिए दूध इसलिए अशुभ माना जाता है, क्योंकि इससे उनकी मृत्यु तक भी हो सकती है।

कालसर्प दोष की मुक्ति के लिए नाग पंचमी के दिन पढ़ें यह प्रार्थना
ज्योतिष के हिसाब से भी पेड़ों का बड़ा महत्व है, जाने बृहस्पतिवार को कौन सा पेड़ लगाना है फलकारी

Check Also

मंदिर की नींव खोदने में प्रयोग किया जाएगा चांदी का फावड़ा, चांदी की कन्नी से ईंट पर लगाई जाएगी सीमेंट

रामनगरी अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण का बरसों बाद शुरू होने जा रहा …