गणेश विसर्जन के दिन करे ये उपाय, सभी समस्याओं से मिलेगो मुक्ति

आज गणेश विसर्जन होने जा रहा है. ऐसे में आप सभी जानते ही होंगे कि प्रतिमा का विसर्जन करने से भगवान फिर से कैलाश पर्वत पहुंच जाते हैं और ऐसी मान्यता है कि वह अपनी माँ के पास चले जाते हैं. वैसे गणेश विसर्जन की महिमा बहुत अधिक होती है. कहा जाता है इस दिन अनंत शुभ फल प्राप्त करने के लिए कई विशेष उपाय किये जा सकते हैं. अब आज गणेश विसर्जन पर हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ उपाय.

क्या तरीका है विसर्जन का? – इसके लिए अगर आपने उपवास रखा है तो केवल फलाहार करें. अब अपने घर में स्थापित प्रतिमा का विधिवत पूजन करें. ध्यान रहे आप पूजन में नारियल, शमी पत्र और दूब जरूर अर्पित करें. अब उसके बाद प्रतिमा को विसर्जन के लिए ले जाएं. आपके पास अगर प्रतिमा छोटी हो तो गोद या सिर पर रख कर ले जाएं. ध्यान रहे प्रतिमा ले जाते समय भगवान गणेश को समर्पित अक्षत घर में अवश्य बिखेर दें. ऐसा करने से लाभ होगा. वैसे इस बात का भी ध्यान रखे कि इस दौरान चमड़े का  बेल्ट, घड़ी या पर्स पास में ना रखे. इसके आलावा नंगे पैर रहे और मूर्ति का विसर्जन करें.

समस्याओं से मुक्ति के लिए करें यह उपाय –  आज के दिन एक भोजपत्र अथवा पीला कागज लें. अब अष्टगंध की स्याही या नई लाल स्याही की कलम लें और भोजपत्र या पीले कागज पर सबसे ऊपर स्वस्तिक बनाएं. अब इसके बाद स्वस्तिक के नीचे ॐ गं गणपतये नमः लिखें. इसके बाद आप एक एक करके आपको जितनी भी समस्याएं हैं साड़ी लिख दें. ध्यान रहे लिखावट में काट पीट न करें और कागज के पीछे कुछ न लिखें. अब समस्याओं के अंत में अपना नाम लिखें फिर गणेश मंत्र लिखें. इसके बाद आप सबसे आखिर में भी एक स्वस्तिक बनाएं. अंत में कागज को मोड़कर रक्षा सूत्र से बांध लें. इसके बाद उसे गणेश जी को समर्पित करें. ध्यान रहे इसे भी गणेश जी की प्रतिमा के साथ ही विसर्जित करें. ऐसा करने से समस्त समस्याओं से मुक्ति मिलेगी.

अनंत चतुर्दशी के दिन जरूर पढ़े सत्यनारायण की कथा, धन-धान्य की होगी वर्षा
क्या आप जानते हैं वैष्णो देवी मंदिर की पौराणिक कथा...

Check Also

चैत्र नवरात्रि की रामनवमी के अगले दिन है कामदा एकादशी, बन रहें हैं पूजा के सात शुभ मुहूर्त

सनातन धर्म में एकादशी का बहुत ही महत्त्वपूर्ण स्थान है. मान्यता है कि एकादशी का …