क्या मुख्यमंत्री द्वारा उठाया गया कदम उचित है? क्या श्री ओम पाल का मंदिर निर्माण में सहयोग मांग लेना एक अपराधिक कृत्य है? तो फिर आज़म खान के उलूल-ज़ुलूल वयानों पे अखिलेश जी कोई कार्यवाही क्यों नहीं करते? शायद वोट बैंक की राजनीति के कारण! लेकिन ऐसे कबतक चलने वाला है, ओम पाल का भी तो अपना निजी वयान हो सकता है! ऐसे में बिना कारण या पक्ष जाने पाल को हटा देने की मैं घोर निंदा भरा कदम मानता हूँ।

ompal-nehra1

सप्ताह के 7 दिन और ये 7 रंग चमका सकते हैं किस्मत
जानिए सरस्वती पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

Check Also

हुआ शुरू रिटायर्ड सेना के अधिकारियों का बीजेपी में जुड़ना

लोकसभा चुनाव के दौरान विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ अलग-अलग क्षेत्रों के नामी लोगों के …