यहां हुआ था हनुमानजी का जन्म, एक भूल से बंद हो गया गुफा का द्वार

phpThumb_generated_thumbnail (89)गुमला। रामभक्त हनुमान अजर-अमर हैं। उनका नाम सप्त चिरंजीवियों में शामिल है। देश-दुनिया में उनके अनेक मंदिर हैं लेकिन हनुमानजी का जन्मस्थान कहां है, इसकी चर्चा कम ही होती है।  
 
झारखंड में एक गुफा के बारे में कहा जाता है कि यहां हनुमानजी का जन्म हुआ था। यह स्थान  गुमला जिले से करीब 21 किमी की दूरी पर स्थित है। इसका नाम आंजन धाम है।
 
यहां के पहाड़ों में एक गुफा है जिसका संबंध रामायण काल से बताया जाता है। यह भी माना जाता है कि मां अंजनी यहां रोज शिवजी का पूजन करने आती थीं। इसलिए यहां 360 शिवलिंग हैं। यहां अनेक तालाब हैं जहां मां अंजनी स्नान करती थीं।
 
अन्य कथाओं के अनुसार यह संत-ऋषियों की तपोस्थली है। यहां आंजन माता मंदिर बना हुआ है। मंदिर के नीचे अत्यंत प्राचीन गुफा है। इसे सर्प गुफा कहा जाता है।
 
 गुफा के द्वार के पास मां अंजनी की प्रतिमा है। यहां हर समय पताका लहराती रहती है। श्रद्धालुओं का मानना है कि इस गुफा के अंदर एक रास्ता है। यहीं से मां अंजनी खटवा नदी तक जातीं और वहां स्नान करतीं।
 
कथा के अनुसार, एक बार यहां के आदिवासियों ने मां अंजनी को प्रसन्न करने के लिए बकरे की बलि दे दी परंतु इससे माता रुष्ट गईं। इसके बाद माता ने गुफा का द्वार बंद कर दिया। 
 
देश में ऐसे अनेक तीर्थ हैं जहां हनुमानजी का पूजन किया जाता है लेकिन जन्मस्थान का गौरव प्राप्त होने के बावजूद यह स्थान आज भी उपेक्षित है।
 
तो क्या देवी सरस्वती का रूप हैं जापानी देवी बेंजाइटन
एक नाग वंशज की जुबानी, नागवंश की अमिट कहानी

Check Also

यह राम स्तुति सुनकर प्रसन्न होंगे बजरंगबली

श्री राम के नाम का जप करने से उनके परम भक्त हनुमान जी आसानी से …