नारियल के जल से शिवलिंग पर रूद्राभिषेक करने पर होगी शनि की शांति

नारियल यह ऐसा फल है जो सभी को लुभाता है। इसे देखकर पूजन कार्यक्रम या शुभप्रसंग की याद आने लगती है। स्वाद में भी यह सभी को अच्छा लगता है और इसका पानी भी सभी को लुभाता है। यही नहीं नारियल के व्यंजन लोगों को बहुत प्रिय होते हैं। हां भारतीय पूजन पद्धति में इसका बहुत महत्व है। कलश स्थापना से लेकर किसी का सम्मान करना हो या फिर भगवान को भोग लगाना हो नारियल के बिना यह सब विधियां पूरी नहीं होती।

नारियल की तीन आँखे होती है इसे त्रिनेत्र के तौर पर देखा जाता। यह इतना पवित्र होता है कि इसमें आदि देव महादेव और ब्रह्माजी के साथ विष्णु जी का निवास माना जाता है। यदि नारियल के जल से शिवलिंग पर रूद्राभिषेक किया जाए तो यह शनि शांति में अच्छा उपाय होता है। 

अतः देवो के देव महादेव को प्रसन्न करने के लिए तथा शनि की शान्ति के लिए शिवलिंग पर नारियल का जल चढ़ाना चाहिए। 

भगवान राम और माँ सीता से जुडी हुई हे ये महत्वपूर्ण बातें
जन्माष्टमी के साथ आज निकलेगी बाबा महाकाल की अंतिम शाही सवारी

Check Also

क्या सच में श्री कृष्ण की थी 16108 पत्नियां, जानिए पौराणिक कथा

दुनियाभर में श्री कृष्ण की ख्याति है. श्री कृष्ण के जन्मोत्सव को दुनियाभर में जन्माष्टमी …