आज सोने-चांदी के बर्तन खरीदने से पहले जान लें यह बात

आप सभी को बता दें कि कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि यानि धनतेरस के दिन सोने-चांदी के आभूषण के साथ ही पीतल-स्टील के बर्तन भी खरीदे जाते हैं और अधिकतर सभी लोग इस दिन खरीदारी करना पसंद करते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं इस दिन पीतल-स्टील के बर्तनों की खरीदारी क्यों की जाती है..? अगर नहीं तो आइए आज हम आपको बताते हैं कि ऐसा आखिर क्यों होता है..?

पीतल के बर्तन –

 कहा जाता है भगवान धनवंतरी अपनी दो भुजाओं में औषधि के साथ अमृत कलश लिए हुए हैं और यह मान्यता है कि अमृत कलश पीतल का बना हुआ है क्योंकि पीतल भगवान धनवंतरी की प्रिय धातु है वहीं इस कारण से धनतेरस के दिन लोग अपने घरों में नए पीतल के बर्तन खरीदकर रखते हैं.

चांदी के बर्तन भी होते हैं शुभ – 

कहा जाता है धनतेरस के दिन सोने, चांदी की वस्तु या आभूषण खरीदना शुभ माना जाता है, यह भी मान्यता है कि चांदी चन्द्रमा का प्रतीक है, जो शीतलता प्रदान करती है, इस दिन सोने-चांदी की खरीदी गई कोई भी वस्तु शुभ फल प्रदान करती है और लंबे समय तक चलती है. वहीं चांदी का संबंध ज्योतिष से है और यह चंद्रमा तथा मन से जुड़ी है. ऐसे में ऐसा भी माना जाता है कि धनतेरस के दिन चांदी के बर्तन खरीदने से घर में समृद्धि और सफलता आती है.

स्टील के बर्तन – 

कहा जाता है इसे भी खरीदना शुभ होता है वहीं मान्यता है कि स्टील के बर्तन भी चांदी की तरह स्वच्छ और शुद्ध होते हैं.

आज केवल 5 घंटे 33 मिनट का ही है खरीददारी का शुभ मुहूर्त
धनतेरस पर दीपक में डाल दें यह चीज़, धन से भर जाएगा घर

Check Also

सूर्यदेव को प्रसन्न करने के लिए इन मन्त्रों का करे जाप

आज रविवार है मतलब सूर्यदेव का दिन। आज के दिन सूर्यदेव की पुरे विधि के …