पूजा पाठ करते समय जरूर बरतें ये सावधानियां

पूजा-पाठ करने से मन को शांति मिलती है. सभी लोग अपने धर्म और आस्था के अनुसार पूजा-पाठ करते हैं. हिंदू धर्म में पूजा का बेहद खास महत्व है. लेकिन पूजा करते समय कई सावधानियों का ख्याल रखना जरूरी होता है. आइए जानते हैं हिंदू धर्म में पूजा पाठ करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

1. घर में पूजा पाठ का सही स्थान क्या हो-

– घर में हमेशा पूरब या उत्तर दिशा में मंदिर होना चाहिए.

– घर का मंदिर हमेशा लकड़ी का हो.

– घर के मंदिर के आसपास कोई गंदगी नहीं होना चाहिए.

2.  घर के मंदिर का मुख्य रंग क्या हो-

– मंदिर का सही रंग हल्का पीला या नारंगी होता है.

– घर के मंदिर में हमेशा हल्की पीली लाइट का प्रयोग करना चाहिए.

– मंदिर में गहरे नीले रंग का प्रयोग ना करें.

3. घर के मंदिर में क्या-क्या रखना चाहिए-

– घर के मंदिर में हलके पीले रंग का या लाल रंग का वस्त्र बिछाएं.

– भगवान गणपति और महालक्ष्मी  का स्वरूप रखें.

–  अपने इष्ट और अपने कुल गुरु का चित्र अवश्य रखें.

– एक तांबे के लोटे में गंगाजल भरकर रखें.

4.  घर का मंदिर बनाते समय क्या-क्या सावधानी बरतें-

– घर का मंदिर दक्षिण पश्चिम दिशा में नहीं होना चाहिए.

– मंदिर के आसपास कोई गंदगी ना हो.

– मन्दिर शौचालय के पास बिल्कुल ना बनाएं.

– मंदिर के आसपास जूते चप्पल ना रखें

5.   कौन सी दिशा में बैठकर भजन कीर्तन जाप किया जाए-

– हमेशा भजन कीर्तन पूर्व या उत्तर दिशा में मुंह करके किया जाए तो सर्वोत्तम रहता है. अन्य किसी दिशा में किया गया भजन कीर्तन मन में उत्साह नहीं ला पाता है.

– भजन कीर्तन करने से पहले भगवान मंगल मूर्ति के चित्र को हमेशा स्थापित करें और उसके बाद ही भजन कीर्तन शुरू करें.

– जिस देवी देवता का भजन किया जा रहा है उसके चित्र के सामने गाय के घी का दीपक और धूप अवश्य जलाएं और जल का पात्र भी रखें.

6. भजन कीर्तन में किन-किन सावधानियों को बरतें-

– भजन कीर्तन करते समय इधर-उधर की बातों में ध्यान ना दें.

– हमेशा शुद्ध और साफ वस्त्र पहनकर ही भजन कीर्तन करें.

–  भजन कीर्तन में शुद्ध मिठाई और साफ-सुथरे फलों का प्रयोग करें.

– हमेशा भजन कीर्तन में गाय के घी का दीपक और कलावे की बातें का प्रयोग करें.

7. घर में पूजा पाठ और जाप का पूरा फल पाने के लिए करें उपाय-

– घर में पूजा पाठ करते समय श्वेत गुलाबी या हल्के पीले वस्त्र पहनकर ही पूजा करें.

– हमेशा लाल या पीले आसन पर बैठकर ही मंत्र जाप करें.

– जाप हमेशा लाल चंदन की माला या रुद्राक्ष की माला से करें.

– जाप शुरू करने से पहले भगवान गणपति व गुरु और अपने इष्ट का ध्यान करना चाहिए. उसके बाद ही जाप शुरू करें.

8. हर परेशानियों को दूर करने के उपाय-

– घर में अकारण कलह रहता हो तो प्रतिदिन सुबह गायत्री मंत्र का 108 बार जाप करें.

– घर में यदि कोई बीमार रहता हो तो महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें और शिवलिंग पर कच्चा दूध चढ़ाएं.

– घर में धन की कमी हो तो श्री नारायण भगवान को पीले पुष्प चढ़ाएं. घर में आपस में पति पत्नी में विवाद हो तो संयुक्त रूप से शिव पार्वती का पूजन करें.

जानिए आखिर क्यों इन चार जगहों पर ही आयोजित होते हैं कुंभ
वह जाप जिससे शिव जी ने रावण को यह नाम दिया था...

Check Also

मां शाकंभरी की पूजा से होगा हर दुःख दूर, पढ़ें पौराणिक कथा

मां शाकंभरी देवी दुर्गा के अवतारों में एक हैं। दुर्गा के सभी अवतारों में से …