आज है पौष पूर्णिमा का पावन स्नान, श्रद्धालु लगा रहे हैं आस्था की डुबकी

आप सभी को बता दें कि पौष पूर्णिमा के मौके पर सोमवार को प्रयागराज कुंभ में श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई और त्रिवेणी संगम किनारे सुबह सूर्य के उदय से पहले ही श्रद्धालु स्नान करते हुए नजर आए. वहीं प्रयाग कुंभ मेले में आने वाले कल्पवासी पौष पूर्णिमा से संगम की रेती पर कल्पवास शुरू कर देते है. आप सभी को बता दें कि हिंदुओं में पौष पूर्णिमा के स्नान का विशिष्ट महत्व है और पौष पूर्णिमा के बारे में शंकराचार्य अधोक्षानंद ने बताया, ‘‘पौष पूर्णिमा हिन्दुओं के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है. इस दिन देश के विभिन्न भागों से आने वाले श्रद्धालु संगम पर डुबकी लगाने के लिए एकत्र होते हैं.’

आप सभी को बता दें कि सोमवार यानी आज होने वाले स्नान में लाखों लोगों के संगम में डुबकी लगाने का अनुमान है और इसी वजह से सुरक्षा के प्रबन्धों के तहत बलों की तैनाती के साथ प्रौद्योगिकी का भी इस्तेमाल किया जा रहा है. इसी के साथ कुंभ 2019 सुरक्षा के लिहाज से अब तक का सबसे सफल कुंभ साबित हो यह पुलिस अधिकारियों की कोशिश है.

बताया जा रहा है कि प्रयागनगरी में लगे आस्था के सबसे बड़े मेले महाकुम्भ में कल्पवासियों की वजह से रौनक बनी हुई है और माघी पूर्णिमा के दिन डुबकी लगाने के बाद कल्पवासी विदा हो जाएंगे. इसी के साथ महाकुम्भ में संगम तट पर कल्पवासी शिविरों में कथा व भोज आयोजित किए जा रहे हैं और कल्पवास के 12 वर्ष पूरे करने वाले कल्पवासी सेजिया दान कर रहे हैं, जिसका आयोजन भव्य होता है. आपको बता दें कि आज चंद्रग्रहण भी है.

हनुमान जी लंका तैरकर गए थे या कि उड़कर, जानिए सच
अगर ऐसा होता है तो 5 नहीं 14 पतियो की पत्नी होती द्रोपदी

Check Also

हिन्दू धर्म में क्यों करते हैं कन्यादान, जानिए वजह?

हम सभी इस बात से वाकिफ हैं कि हिंदू धर्म में रीति रिवाजों का बहुत …