जान लें देवी भक्त की ये होती है पहचान

नवरात्रि में माता के भक्त पूरे नौ दिनों का उपवास करते हैं.मां को किस दिन किस चीज का भोग लगाना है इस बात का भी खासा ध्यान रखा जाता है.

दिल न दुखाएं-

हिंदू धर्म में कहा जाता है कि आपके ऐसे तीर्थ और व्रत का कोई मतलब नहीं होता जो किसी का दिल दुखाकर किया गया हो. तो इस नवरात्रि संकल्प लें कि आप कभी भी किसी का दिल नहीं दुखाएंगे.

भगवान शिव की आराधना, इस तरह करें
अयोध्या की शरण में योगी, दलित के घर खाया खाना

Check Also

हर साल आषाढ़ मास की पवित्र पूर्णिमा तिथि के दिन गुरु पूर्णिमा का पर्व मनाया जाता है: धर्म

गुरु को भगवान से भी श्रेष्ठ माना जाता है, क्योंकि गुरु ही भगवान के बारे …