सबसे बड़े देवगुरु बृहस्पति के संयोग से बनने वाले गुरु पुष्य योग का आरंभ आज

सभी नक्षत्रों में श्रेष्ठ पुष्य नक्षत्र और सभी ग्रहों में सबसे बड़े देवगुरु बृहस्पति के संयोग से बनने वाले गुरु पुष्य योग का आरंभ आज रात्रि 08:29 पर होगा। आज पूरे दिन गुरु का नक्षत्र पुनर्वसु भी विद्यमान रहेगा। इसलिए गुरुवार का दिन और गुरु का नक्षत्र होने के फलस्वरूप सर्वार्थ सिद्धि योग तो बनेगा, किंतु गुरु पुष्य योग का प्रभाव रात 08:29 के बाद होगा।

खीर भवानी मंदिर वार्षिक महोत्वस के लिए कई प्रवासी कश्मीरी पंडित पहुंच चुके
करें ये दिव्य उपाय, दूर होंगी सभी समस्याएं: होलाष्टक

Check Also

हिंदू धर्म में भगवान गणेश को प्रथम पूज्य देवता माना गया है दूर्वा घास इन्हें अत्यंत प्रिय है

हिंदू धर्म में हर देवी-देवता को प्रसन्न करने के लिए उनकी पूजा विधि और पूजा …