पापमोचनी एकादशी सभी पापों का नाश करने वाली होती है एकादशी, जानें इसकी महिमा के बारे में

धर्म में आज हम पापमोचनी एकादशी की महिमा के बारे में बात करेंगे. पापमोचनी एकादशी को जीवन के सभी पापों का नाश करने वाली एकादशी माना जाता है. चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को पापमोचनी एकादशी कहा जाता है. व्यक्ति के सारे पापों को नष्ट करने की क्षमता के कारण ये एकादशी पापमोचनी कहलाती है.

पापमोचनी एकादशी पर व्यक्ति व्रत विधान करके सभी पापों से मुक्त हो सकता है. इस व्रत के प्रभाव से संसार के सारे सुख प्राप्त हो सकते हैं. पापमोचनी एकादशी पर भगवान विष्णु की पीले फूलों से पूजा करने से उनकी कृपा मिलती है. पापमोचनी एकादशी पर नवग्रहों की पूजा से सारे ग्रह अपना शुभ परिणाम देना शुरू कर देते हैं. देखिए धर्म.

आज (20 मार्च 2020) कैसा रहेगा आपका दिन, जानिए आज का राशिफल
जानें स्त्री के इन गुणों के बारे में, ये पांच गुण वाली स्त्रीयां कहलाती है श्रेष्ठ : चाणक्य नीति

Check Also

इन चीजों के साथ इस विधि से शिव-पार्वती की करे पूजा, मनवांछित पायेंगे वरदान, दूर होंगें कष्ट

भगवान शिवजी को भोलेनाथ भी कहते हैं. क्योंकि हिंदू धर्म ग्रन्थों के मुताबिक, भगवान शिव …