नवरात्रि के नौ दिनों तक कन्याओं उपहार देने से सभी मनोकामनाओं की होती है पूर्ति

नवरात्रि की शुरुआत 17 अक्टूबर 2020 से हो रही है जो 25 अक्टूबर 2020 तक चलेगी. नवरात्रि के नौ दिनों का अलग-अलग महत्व होता हैं और इन नौ दिनों में कन्याओ को ये उपहार देने से हर मनोकामनां भी पूर्ण होती हैं. चैत्र नवरात्रि में कन्याओ को क्या-क्या करे दान-

पहला दिन: नवरात्रि के पहले दिन कन्याओं को ताज़े और सुगन्धित फूल भेंट करने चाहिए. इसके साथ ही कन्याओं को उनके पसंद की श्रंगार सामग्री भी भेंट करे.

दूसरा दिन: नवरात्रि के दूसरे दिन कन्याओं को फल भेंट करे इससे स्वास्थ्य सम्बन्धी बीमारी दूर हो जाती हैं और धन से सम्बन्धी कार्यो में भी बाधा नहीं आती हैं. लेकिन ध्यान रहे दान किए फल मीठे ही होना चाहिए.

तीसरा दिन: नवरात्रि के तीसरे दिन कन्याओं को मिठाई का दान, घर पर बनी खीर, हलवा या केसरिया भात आदि ख़ुशी-ख़ुशी दान करे. इस दान से परिवार में धन-धान की कमी कभी नहीं होगी.

चौथा दिन: नवरात्रि के चौथे दिन कन्याओं को वस्त्रो का दान करे इससे जीवन में भौतिक सुख बनते हैं. कन्याओं को रिबन और रंग-बिरंगे तोहफे भी दे सकते हैं.

पांचवे दिन: नवरात्रि के पांचवे दिन कन्याओं को पांच प्रकार की श्रंगार सामग्री भेंट करे ये आपके लिए शुभ और फलदायी होगा. श्रंगार सामग्री में बिंदिया, चूड़ी, मेहंदी, बालों के लिए क्लिप्स, सुगंधित साबुन, काजल इत्यादि शामिल होना चाहिए.

छठा दिन: नवरात्रि के छठे दिन कन्याओं को छोटे-छोटे खिलौने भेंट करे. आप अपनी श्रद्धा के अनुसार खिलौने दान कर सकते हैं. इसके अलावा आप शिक्षा सामग्री भी दान कर सकते हैं.

सातवें दिन: नवरात्रि के छठे दिन कन्याओं को शिक्षा से सम्बंधित सामग्री का दान करे. इसमें पेन, स्केच पेन, पेंसिल, कॉपी, ड्रॉइंग बुक्स, वाटर बॉटल, कलर बॉक्स आदि सामग्री शामिल हो सकता हैं.

आठवें और नवमीं: के दिन इस बार अष्टमी और नवमीं का दिन एक साथ हैं इसलिए इस दिन आप किसी भी कन्या का अपने हांथो से श्रंगार करके उसकी पूजा करे. कन्या के चरणों को भी दूध से धोकर उनपर कुमकुम चावल लगाकर पुष्प अर्पित करे. इसके बाद उन्हें दूध और आटे से बनी पूड़ी और खीर खिलाए और फिर अपनी श्रद्धा अनुसार भेंट देदे.

नवरात्रि पूजा के दौरान रखे इन चीजों का ख्याल, आपकी पूजा होगी सम्पूर्ण
रावण ने मरने से पूर्व प्रभु श्री राम भाई लक्ष्मण को दिए थे ये उपदेश

Check Also

शनिदेव: भाग्यदेवता को यंत्र से करें खुश, शनि का यंत्र है अत्यंत फलदायी

शनिदेव के उपायों में तेल तिलहन का दान, रत्नों का धारण एवं मंत्र जाप प्रमुखता …