पूजा-पाठ के दौरान अगरबत्ती जलाना क्यों माना गया है शुभ? 

लोग अपनी बात ईश्वर तक पहुचाने के लिए विधिपूर्वक पूजा-अर्चना करते हैं। साथ ही धूप, अगरबत्ती, कपूर और दीपक जलाते हैं, जिससे भगवान प्रसन्न होते हैं और उनकी मनचाही मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। सामान्य तौर पर वर्तमान समय में लोग भगवान की पूजा शुरू करने से पहले अगरबत्ती जलाते हैं। मान्यता के अनुसार, पूजा के दौरान अगरबत्ती जलाना शुभ माना गया है। ऐसा कहा जाता है कि अगरबत्ती जलाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है और सदैव सुख-समृद्धि बनी रहती है। पूजा-पाठ के दौरान अगरबत्ती जलाना शुभ मानी गई है। शायद ही इसके बारे में बहुत ही कम लोगों को जानकारी है कि आखिर अगरबत्ती जलाना शुभ क्यों माना गया है, तो चलिए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

ये है वजह

अगरबत्ती जलाने से घर सुंगधित होता है और सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है। साथ ही गृह कलेश की परेशानी से छुटकारा मिलता है। इसलिए अगरबत्ती को जलाना शुभ माना गया है।

अगरबत्ती जलाने से मिलते हैं फायदे

-घर में अगरबत्ती जलाने से जीवाणु नष्ट होते हैं और परिवार के लोगों का स्वास्थ्य अच्छा रहता है।

-वास्तु शास्त्र की माने रोजाना घर में अगरबत्ती जलाने से वास्तु दोष से छुटकारा मिलता है।

-मानसिक तनाव की परेशानी को दूर करने के लिए अगरबत्ती जलाना लाभकारी होता है।

-ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, अगरबत्ती सुख और समृद्धि का प्रतीक है। पूजा के दौरान अगरबत्ती जलाने से साधक को मां लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

-इसके अलावा अगरबत्ती जलाने से नकारात्मक ऊर्जा समाप्त होती है और घर सुंगधित होता है।

-अगर आपके द्वारा किए गए कार्य बार- बार बिगड़ रहे हैं, तो ऐसे में घर में अगरबत्ती जलाएं। इससे आपको कार्य में सफलता हासिल होगी और सभी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

बसंत ऋतु में सृष्टि पर चारों तरफ खूबसूरत सौंदर्य भरे उल्लास का होता है संचार
वर्कप्लेस, जानिए इससे जुड़े वास्तु टिप्स

Check Also

जया एकादशी व्रत पारण का समय जरूर रखें ध्यान

हिंदू पंचांग के अनुसार 20 फरवरी 2024 को आज जया एकादशी का व्रत है। भगवान …