इन मंत्रो के जाप से होगी सभी समस्या का निवारण

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार मंत्रों में बहुत ताकत होती है. मंत्रों का जाप मनुष्य की हर पीड़ा और पाप को हर सकता है. मंत्रों में देवी-देवताओं की शक्ति समाई होती है. आइए जानते हैं इन 5 मंत्रों की शक्ति और इनसे होने वाले चमत्कारी लाभ के बारे में.धन लाभ के लिए मंत्र-इस वर्ष धन लाभ के लिए राहु की उपासना करें. एक स्टील का छल्ला जरूर धारण करें. साथ ही नित्य सायं “ॐ रां राहवे नमः” का जप करें. नियमित रूप से कुत्तों को रोटी, ब्रेड या बिस्कुट खिलाएं.अच्छे स्वास्थ्य के लिए मंत्र-अच्छे स्वास्थ्य के लिए सूर्य की उपासना करें.

नित्य प्रातः सूर्य को जल अर्पित करें. साथ ही नियमित रूप से “नमः शिवाय” का जप करें. इस वर्ष स्वस्थ रहने के लिए खान पान का ध्यान रखें. मुकदमेबाजी और वाद विवाद से मुक्ति का मंत्र-मुक़दमेबाजी से मुक्ति के लिए श्री भैरव की उपासना करें. हर रविवार को भैरव जी के मंदिर जाएं. उन्हें नारियल या सफेद मिठाई अर्पित करें. रोज शाम को भैरव देव के मन्त्र का जप करें. मन्त्र है “ॐ भं भैरवाय अनिष्टनिवारणाय स्वाहा.”

कारोबार में धोखे से बचने का मंत्र-अगर कुंडली में ऐसे योग हों तो साझेदारी से बचें. लिखा पढ़ी के मामले में हमेशा सावधानी रखें. नित्य प्रातः सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए और गायत्री मंत्र ”ॐ भूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्यः धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात्” का जाप करें. सलाह लेकर एक पन्ना धारण करें.बच्चों के बौद्धिक विकास के लिए मंत्र-भगवान गणपति बुद्धि और समझदारी के देवता हैं. इनकी पूजा उपासना करके कोई भी अत्यंत तीव्र बुद्धि और विद्या की प्राप्ति कर सकता है. बुधवार के दिन सुबह के समय भगवान गणपति को 5 मोदक और 5 लाल गुलाब के फूल तथा पांच हरी दूर्वा की पत्तियां अर्पण करें और गाय के घी का दीपक जलायें. ”ॐ बुद्धिप्रदाये नमः” मन्त्र का 108 बार जाप करें.

1 फरवरी को है रथ सप्तमी, जानिए महत्व और पूजा विधि
कुंडली का शनि कर रहा है बहुत परेशान, मंत्रों से होगा निवारण

Check Also

चैत्र नवरात्रि की रामनवमी के अगले दिन है कामदा एकादशी, बन रहें हैं पूजा के सात शुभ मुहूर्त

सनातन धर्म में एकादशी का बहुत ही महत्त्वपूर्ण स्थान है. मान्यता है कि एकादशी का …