इस रक्षाबंधन वास्तु के अनुसार बांधे अपने भाई को राखी…

भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक रक्षाबंधन का त्योहार 26 अगस्त को मनाया जाता है। इस त्योहार पर बहनें अपनी भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती है। साथ ही उनकी जिन्दगी में तरक्की और सुख -सुविधा हासिल करने की प्रार्थना करती हैं। भाई-बहनों के जीवन में यह राखी का त्योहार सुख और संपन्नता लाएं इसके लिए राखी बांधते समय वास्तु के नियमों का पालन करना बहुत जरुरी होता है।

– बाजार में कई तरह की राखियां मिलती है जिसमें राखियों को चमकदार और आकर्षक बनाने के लिए बहुत सी आर्टिफिशियल चीजें का इस्तेमाल किया जाता है। वास्तु के अनुसार वहीं राखी बांधे जो नेचुरल चीजों से बनी हो।

– बाजार में रंग बिरंगी कई राखियां मौजूद होती हैं लेकिन इस बात का खास ख्याल रखें भूलकर भी काले रंग की राखी को अपने भाई की कलाई पर ना बांधे। वास्तु के अनुसार लाल, पीली और नारंगी रंग की राखियां कलाई पर बांधने पर शुभ फल की प्राप्ति होती है।

– वास्तु में दिशा का विशेष महत्व होता है ऐसे में जिस समय आप अपने भाई को राखी बांधे उस समय आप और आपके भाई उत्तर पूर्व या पूर्व दिशा में बैठें, इससे सकारात्मकता बनी रहेगी। ध्यान रखें उत्तर पश्चिम दिशा में राखी बंधवाना भी शुभ नहीं रहेगा।

– राखी बांधते समय अपने घर की खिड़की और दरवाजें को खोलकर रखें ताकि सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता रहे।

-भाई अपने बहनों को भूलकर भी नुकीली और कांटे वाली चीजें गिफ्ट में ना दें।

हस्तरेखा: हथेली पर इन खास निशानों से जानिए आप भविष्य में अमीर बनेंगे या नहीं
राम और सीता के विवाह से जुड़ा ये सच नहीं जानते होंगे आप, पढ़कर चौंक जाएंगे

Check Also

तो इस माला से मंत्र का जाप करना होता है लाभकारी

ईश्वर की आराधना में मंत्रों के जाप का विशेष महत्व है. वहीं देवी-देवताओं को प्रसन्न …